Shayari's of the Day

2019 Judai Shayari in Hindi

Na jane mere dil ne kya kasoor kr diya,
Jb bhi jisse chaha rab ne usse dur kr diya,
Ab na kisi ko paane ki chahat or na kisi se sikhwa hai,
Bs rab kare ye mohobat ab dubara kisi se na ho,
Meri dil se yahi dua hai,
Meri dil se yahi dua hai......

Post By: Nitish Aggarwal
Bewafa Shayari on love

Mane jisse bhi pyar kiya chahe,
fir wo apna tha ya paraya sbne ki bewafai,
Zindagi na jane mujhe kis mood pr le aayi,
Ab ko kisi ke aane ki khushi or na kisi ka jane ka gam,
Na jane kb durr hogi mujse meri ye tanhai....

Post By: Nitish Aggarwal
Tere intezaar mein shayari

Is dil e nadan ko tera intezar aaj bhi hai....
Is naacheez ko tujhse pyar aaj bhi hai....
Sadiyon si guzar gai ab to deedar ko tere...
Kahde koi unse...meri ye aankhe beqarar aaj bhi hai....☺☺

Post By: Ravinder Rana
4 Line Alone Shayari

Bahut soch liya dosto ki akelapan acha hai,
ya kisi ke sath relation me rehna,
Bahut acha laga jab dil ne ye jawab diya ki
Agar hamari wajah se kisi ko dard hota hai to akelapan hi acha hai...

Post By: Dipak
Shayari on Intezaar

दिल में तुम्हारे प्यार का इंतजार हो
आओ या न आओ तुम, बस ऐतबार हो....

पूछेगी जिंदगी कभी इतने वीरान क्यूँ
दुनियाँ की भीड़ में तेरा सूना मकान क्यूँ
कह देंगे इक खामोश तुम जश्नेबहार हो
आओ या न आओ तुम, बस ऐतबार हो
दिल में तुम्हारे प्यार का इंतजार हो..........

मिटता नही निशां कोई चलता रहे सफर
यादों के नाम से हसीं, होती रहे डगर
हमसाया बनके जब कोई दिल में शुमार हो
आओ या न आओ तुम, बस ऐतबार हो
दिल में तुम्हारे प्यार का इंतजार हो..........

चलते रहेंगे साँसों के यूँ ही ये सिलसिले
एहसास में रहेगे दिन अपने खिले खिले
दम पे तुम्हारे प्यार के जीना निसार हो
आओ या न आओ तुम, बस ऐतबार हो
दिल में तुम्हारे प्यार का इंतजार हो़..........

दिल में तुम्हारे प्यार का इंतजार हो
आओ या न आओ तुम, बस ऐतबार हो.....

Post By: Aaradhya Patel
Sad emotional shayari

जो मुझसे कभी मोहब्बत का वादा निभा रहे थे,
यकीन था मुझको फिर भी मुझे यकीन दिला रहे थे,

दिल तो कहता था के उसका ये इश्क सच्चा है,
मगर मेरे अहबाब मुझे कुछ और ही बता रहे थे,

मिला रही थी जब किस्मत उनसे मुझे दोबारा ,
उस वक्त मेरे दुश्मन मेरे उनसे मिलने की दुआ मांग रहे थे,

तुम्हे मुझसे कुछ बेचैनी सी जब हो रही थी वो जाने मन ,
उस वक्त मेरे ख्वाब किसी और को भी आ रहे थे,

हम जिस वक्त तेरी बेवफाई मे जल रहे थे वो जाने जां,
तब तो हम तकलीफ मे थे ही फिर भी मजे उड़ा रहे थे

महफिल मे मेरे शेरो से लोगो मे वहशत जहां तारी थी,
वही पर खुशी मे ये परिंदे मेरे शेरो को गुनगुना रहे थे !

Post By: Aaradhya Patel

Enter your email address to subscribe to this blog and receive notifications of new posts by email.

(Required)
(Required)